Domain Name
Domain Name

Domain Name क्या होता है और डोमेन नेम कैसे खरीदें: अगर आप ब्लॉगिंग की दुनिया में कदम रखना चाहते हैं तो आपने एक नाम तो जरूर सुना होगा और वह नाम है डोमेन नेम। आप में से बहुत सारे लोगों को पहले से ही पता होगा कि डोमेन नेम क्या होता है। पर अगर आपको नहीं पता कि डोमेन नेम क्या होता है और डोमेन नेम को कैसे हम खरीद सकते हैं तो आज इस पोस्ट में हम आपको यही बताएंगे कि Domain Name होता क्या है और आप कैसे उसको खरीद सकते हैं।

Domain Name क्या होता है?

डोमेन नेम आपकी वेबसाइट का नाम होता है या फिर हम कह सकते हैं वह आपकी वेबसाइट का एड्रेस है जो कि लोगों को आपकी वेबसाइट तक पहुंचाता है अगर लोग अपने ब्राउज़र के यूआरएल बार में वह एड्रेस डालें तो। कोई भी वेबसाइट जब ऑनलाइन होती है तो वह एक ip-address का इस्तेमाल करती है ऑनलाइन रहने के लिए। ip-address 16 अंकों का एक नंबर होता है। अब साधारण लोगों के लिए उस 16 अंकों के नंबर याद रखना नामुमकिन है क्योंकि आप एक या दो वेबसाइट के ip-address को तो याद रख सकते हैं पर अगर जहां पर बात आ जाती है 10 या 15 या उससे भी ज्यादा अगर वेबसाइट होगा तो आप याद नहीं रख पाएंगे ip-address की मदद से। इसीलिए  डोमेन नेम को बनाया गया ताकि लोग आपकी वेबसाइट को याद रख पाए।

डोमेन नेम आप कुछ भी रख सकते हैं अपनी वेबसाइट के लिए जैसे कि हमारी वेबसाइट के लिए आपने देखा होगा hindiguruji.in । यह हमारी वेबसाइट का डोमेन नेम है अब इस डोमेन नेम की मदद से आप हमारी वेबसाइट को आराम से याद कर सकते हैं।

आप अपनी वेबसाइट के लिए कोई भी डोमेन नेम रख सकते हैं। डोमेन नेम में आप इंग्लिश अल्फाबेट्स का इस्तेमाल कर सकते हैं साथ ही साथ मैथमेटिकल नंबर का भी इस्तेमाल कर सकते हैं। यह तो बात हो गई कि आप अपने डोमेन नेम का कैसा नाम रख सकते हैं।

 उसके अलावा आपने देखा होगा कि हमारी वेबसाइट के आगे एक Extention लगी है .in। Extention इसलिए लगी है क्योंकि मैं यह चाहता हूं कि मेरी वेबसाइट भारत के ज्यादा से ज्यादा लोगों तक पहुंचे। .in Extention का मतलब है भारत। .in भारत के लिए बनाया गया है इस तरह और भी बहुत सारे Extentions है मैं नीचे टेबल में आपको वह सारे Extentions का मतलब बता दूंगा।

डोमेन नेम की Extentions

.com

सबसे पहले इस एक्सटेंशन को अमेरिकी डिफेंस के लिए बनाया गया था। पर  कुछ समय बाद इसको सभी के लिए कमर्शियल इस्तेमाल के लिए बना दिया गया। और धीरे-धीरे यह एक्सटेंशन बहुत ज्यादा प्रसिद्ध हो गई।

.edu

इस एक्सटेंशन को एजुकेशनल वेबसाइट के लिए बनाया गया है। जैसे कि मान लीजिए कोई एक ऐसी वेबसाइट है जो कि आपको किसी प्रकार की एजुकेशन दे रही है तो उस वेबसाइट का एक्सटेंशन .edu लगेगा।

.net

इस एक्सटेंशन को नेटवर्क नाम से बनाया गया है। इस एक्सटेंशन को इसलिए बनाया गया था ताकि जो नेटवर्क प्रोवाइड करती है वेब साइट्स वह वेबसाइट इस एक्सटेंशन का इस्तेमाल कर सकें। धीरे-धीरे समय के साथ इस एक्सटेंशन को भी सबके लिए लागू कर दिया गया और अब कोई भी वेबसाइट के लिए इस एक्सटेंशन को खरीदा जा सकता है।

.gov

 यह एक्सटेंशन गवर्नमेंट वेबसाइट के लिए बनाई गई है। जितनी भी गवर्नमेंट की ऑफिशियल वेबसाइट से उनके आगे आपको यह एक्सटेंशन देखने को मिल जाएगी।

.mil

इस एक्सटेंशन को मिलिट्री की वेबसाइट के लिए बनाया गया है। जो भी मिलिट्री की वेबसाइट ऑनलाइन है उन वेबसाइट्स में इस एक्सटेंशन का इस्तेमाल होता है।

.org

इस स्टेशन को जो ऑर्गेनाइजेशन वेबसाइट होती है जैसे कि कोई डोनेशन वेबसाइट या फिर कोई ऑर्गेनाइजेशन ऐसी जो कि लोगों के हित के लिए काम करती है उन वेबसाइट के लिए बनाया गया है।

.in

इस एक्सटेंशन को भारत की वेबसाइट के लिए बनाया गया है। अगर आपकी वेबसाइट भारत में है और आप चाहते हैं कि वह भारत में ज्यादा से ज्यादा लोगों तक पहुंचे तो आप इस एक्सटेंशन का इस्तेमाल कर सकते हैं।

.us

इस एक्सटेंशन को यूएसए की वेबसाइट के लिए बनाया गया है अगर आपकी वेबसाइट यूएसए में है तो आप ही सकते हैं जिनका इस्तेमाल कर सकते हैं।

.eu

इस एक्सटेंशन  को यूरोप की वेबसाइट कैसे बनाया गया है।  अगर आपकी वेबसाइट यूरोप में है तो आप इस एक्सटेंशन का इस्तेमाल कर सकते हैं।

तो यह  थे कुछ प्रसिद्ध एक्सटेंशन जिनके बारे में अभी हमने आपको बताया। अब हम बात करेंगे कुछ टॉप लेवल डोमैंस के बारे में।

सामान्य [Generic] टॉप लेवल डोमेन

वर्जित [Restricted] : यह डोमेन नेम जो प्रोफेशनल बिजनेस या फिर कोई प्रोफेशनल लोग वही खरीद सकते हैं। इस डोमेन नेम में .biz, .name, .pro जैसी एक्सटेंशन आती है।

अप्रतिबंधित [Unrestricted]: इन डोमेन नेम को सामान्य लोग भी खरीद सकते हैं। इन डोमेन नेम इज में .com, .net, .org जैसी एक्सप्रेशन आती है।

Country Code Top-level डोमेन

इस तरह के डोमेने मैं आपके देश के अनुसार आप एक्सटेंशन लेते हैं जैसे भारत के लिए .in एक्सटेंशन लेंगे। यूनाइटेड किंगडम के लिए आप .uk एक्सटेंशन लेंगे इत्यादि। अंदर अंदर .in, .uk, .de, .pk जैसी एक्सटेंशन आते हैं।

इन एक्सप्रेशन को आप कभी यूज़ करिएगा जब आप किसी एक तरह की और डांस के लिए अपनी वेबसाइट को बना रहे हैं।

Sponsored टॉप लेवल डोमेन

इस तरह के डोमेन नेम जो है वह स्पेशल तारा के कम्युनिटी को दर्शाते हैं। जैसे कि एजुकेशन वेबसाइट के लिए .edu गवर्नमेंट की वेबसाइट के लिए .gov इत्यादि। इसके अंदर आपको .edu, .gov, .mil, .org जैसी एक्सटेंशन मिलेंगे।

डोमेन नेम  सिस्टम को मैनेज कौन करता है?

डोमेन नेम सिस्टम को Internet Corporation for Assigned Names and Numbers (ICANN) मैनेज करता है। यह एक non-profit ऑर्गेनाइजेशन है जो कि कुछ डोमेन बेचने वाली कंपनियों को यह अधिकार देती है कि वह डोमेन नेम बेच सकते हैं और साथ ही साथ वही जो डोमेन नेम ट्रांसफर भी कर सकती है। ऐसी बहुत सारी ऑनलाइन कंपनियां है जहां से आप अपने डोमेन नेम को रजिस्टर या खरीद सकते हैं।

Siteground से होस्टिंग लेने के लिए यहाँ क्लिक करें

Bluehost से होस्टिंग लेने के लिए यहाँ क्लिक करें 

Bigrock से होस्टिंग लेने के लिए यहाँ क्लिक करें 

Hostgator से होस्टिंग लेने के लिए यहाँ क्लिक करें 

Hostinger से होस्टिंग लेने के लिए यहाँ क्लिक करें 

डोमेन नेम कैसे खरीदें?

इंटरनेट के ऊपर आपको ऐसी बहुत सारी वेबसाइट से मिल जाएंगी जहां से आप अपने लिए डोमेन नेम खरीद सकते हैं। जैसे कि एक वेबसाइट है गो डैडी डॉट कॉम इस वेबसाइट की मदद से आप बहुत ही आसानी से कम दाम में अपने लिए डोमेन नेम खरीद सकते हैं। आपको बस अपनी पसंद का डोमेन नेम  सर्च करके सेलेक्ट करना है उसके बाद आपको उसकी पेमेंट करनी है। और वो डोमेन नेम आपका हो जाएगा बहुत ही आसानी से।

तो दोस्तों आज के इस पोस्ट में हमने बात करी डोमेन नेम क्या है और आप डोमेन नेम को कैसे खरीद सकते हैं। मैं आपको एक बात कहना चाहूंगा जहां कहीं से भी आप को सस्ते में जो मैंने मिल जाओ आप वहां से डोमेन नेम ले सकते हैं। मैं अपनी सभी वेबसाइट के लिए गो डैडी डॉट कॉम से ही ढूंढ लेता हूं। इसके अलावा अगर आपको कहीं और से डोमेन सस्ते में मिल रहा है तो वहां से भी ले सकते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here